लाल किताब क्या है कैसे काम करती है

क्या आपके बने-बनाए काम बिगड़ जाते हैं? क्या आपके साथ सदैव कुछ ना कुछ अशुभ होता ही रहता है? क्या आपकी नौकरी नहीं लग रही है या फिर धन की देवी लक्ष्मी आपसे रूठी हुई हैं?

इसी तरीके की कई सारी समस्याएं निरंतर हमारे जीवन में हमें परेशान करती हुई नजर आती हैं. किसी के पास अच्छी नौकरी नहीं है, तो किसी के पास धन रुक नहीं रहा है. किसी का पति उसको परेशान करता है तो किसी की प्रेमिका उससे दूर जाने वाली है. इसी तरीके की समस्याओं से हम हर रोज दो चार होते हुए नजर आते हैं.

समस्या यह नहीं है कि हमारे पास दुःख सदैव बने रहते हैं बल्कि समस्या यह है कि इन दुखों का अंत करने के लिए कोई सही और अनुभवी उपाय हमें खोजने पर भी मिल नहीं पाता है. ऐसा बोला गया है कि अगर हमारे साथ किसी अनुभवी व्यक्ति का सहारा हो तो हम हर तरह की की परिस्थितियों से लड़ते हुए आगे बढ़ सकते हैं लेकिन अगर हमारे पास कोई सहारा ना हो तो हम टूट कर बुरी तरीके से बिखर जाते हैं.

लेकिन आपको बता दें कि अब आपको निराश होने की कोई भी आवश्यकता नहीं है एस्ट्रोस्वामीजी की इस सेवा में हम आपको लाल किताब के ऐसे ऐसे नायक और कीमती उपाय बताने वाले हैं जो सालों से लोगों की समस्याओं का खात्मा करते हुए चले आ रहे हैं.

ऐसा बोला जाता है कि साल 1939 में लाल किताब का निर्माण हुआ था और तभी से यह किताब बड़ी ही आसानी से लोगों की समस्याओं का समाधान करती हुई नजर आ रही है. इतनी अनुभवी किताब और उसके उपाय होने के बावजूद भी हम अगर परेशान हैं तो उसके पीछे तो इसे हमें अपना दुर्भाग्य ही बोले तो अच्छा होगा.

लाल किताब बोलती है कि अगर व्यक्ति को राहू केतु सता रहा है और आपके काम बन नहीं रहे हैं या आपके ऊपर मौत का खौफ बना हुआ है तो आपको मंगलवार और शनिवार को हनुमान जी का बजरंग बाण का पाठ करना चाहिए. 5 शनिवार को हनुमान जी के ऊपर चोला जरूर चढ़ाएं और उनको बनारसी पान का बीड़ा भी अर्पित करें. कम से कम 5 बार हनुमान जी को चोला चोला चढ़ाने से आप के सभी तरीके के और बड़े से बड़े संकटों का अंत हो जाएगा. इसके अलावा हर मंगलवार या शनिवार को बड़ के पत्ते पर आटे का दिया जलाकर उसे हनुमान जी के मंदिर में रखने से भी व्यक्ति के बड़े से बड़े दुख दूर हो जाते हैं और मौत जैसा कर्म भी कट जाता है.

लाल किताब बोलती है कि अपने पिता दादा नाना को कष्ट देने अथवा उनके सामान सम्मानित व्यक्ति को कष्ट देने एवं साधु-संतों को कष्ट देने से गुरु अशुभ फल देता है और ऐसे व्यक्ति को व्यापार में हानि उठानी पड़ सकती है.

लाल किताब हमें आज ही सूचित कर देती है कि हम जिस तरीके के कर्म आज करने वाले हैं उनकी वजह से आने वाले कल में हमें किस तरीके के कष्ट उठाने पड़ सकते हैं.

लाल किताब में लिखा हुआ है कि भाई से झगड़ा करने, भाई के साथ धोखा करने से मंगल ग्रह व्यक्ति को अशुभ फल देने लगता है और ऐसा व्यक्ति शारीरिक रोगों से पीड़ित हो सकता है.

घर में समृद्धि लाने के लिए लाल किताब में उपाय लिखा हुआ है कि घर में बार-बार अगर धन की हानि हो रही हो या फिर घर में धन नहीं आ पा रहा हो तो घर के मुख्य द्वार पर गुलाब छिड़ककर गुलाब पर शुद्ध घी का 2 मुखी दीपक जलाना चाहिए. दीपक जलाते समय मन ही मन यह कामना करनी चाहिए कि भविष्य में घर के अंदर धन हानि का सामना ना करना पड़े.

घर की आर्थिक स्थिति ठीक करने के लिए घर में सोने का सिक्का रखें, कुत्ते को दूध दें, अपने कमरे में मोर का पंख रखें.

इसी तरीके के उपायों से लाल किताब हमारी खास तरीके से मदद करती हुई नजर आती है. लाल किताब में व्यक्ति के जीवन से जुड़ी हुई हर समस्या और हर दुख का उपाय बताया गया है.

अगर आप भी लाल किताब के इन चमत्कारी उपायों की मदद से अपने जीवन के सभी दुख खत्म करना चाहते हैं तो जल्द से जल्द एस्ट्रोस्वामीजी की सेवा की मदद से आप अपनी और परिवार की सभी समस्याओं का अंत करवा सकते हैं. तो बिना इंतजार किया आप जल्द से जल्द एस्ट्रोस्वामीजी की इस सेवा का लाभ उठायें.