अपनी अंक ज्योतिष रिपोर्ट प्राप्त करें

अंक ज्योतिष के बारे में

अंकशास्त्र अंको का एक विज्ञान है जिसके अंदर अंको की मदद से व्यक्ति के भविष्यफल की घोषणा की जाती है| आज से हजारों सालों पहले विश्व के कई देशों में अंकशास्त्र के मदद से ही भविष्यवाणियां होती रही हैं| ऐसा बोला जाता है कि 0 से 9 तक के जो भी अंक हैं उनको कुछ दैविक शक्तियां नियंत्रित करती हैं|

अंकशास्त्र में हर व्यक्ति का एक अंक मुखिया अंक होता है| इसी अंक को अंक स्वामी बोलते हैं और इसी अंक स्वामी के द्वारा आपके भाग्य का आंकलन किया जाता है। यह अंक स्वामी जातक के जीवन की भूत, भविष्य और वर्तमान सभी तरह की स्थिति का सही आंकलन करवाने में सक्षम होता है|

इस अंक स्वामी का आंकलन आपकी जन्म तिथि या नाम के हिसाब लगाया जाता है। आपका जो अंक स्वामी होगा, उसी के अनुसार से व्यक्ति का चरित्र तय किया जाता है और उसी चारों तरफ व्यक्ति का भविष्य घूमता है।

आपके जीवन में हर तरह की समस्या का आंकलन इसी अंक स्वामी से पता चलता है| आपके करियर, व्यवसाय, नौकरी, प्रेम और आपके जीवन की हर छोटी व बड़ी बात को यह आपका अंक स्वामी निर्धारित करता है| लेकिन अंक शास्त्र में आम आदमी के लिए मुश्किल यह होती है कि वह अपना अंक स्वामी ही नहीं जानता है तो आइये आपको सबसे पहले आज हम आपको अपने अंक स्वामी का हिसाब नाम के अनुसार या जन्मतिथि के हिसाब से लगाना सिखाते हैं|

सबसे पहले जान लें कि अंक शास्त्र में 9 अंक तक होते हैं और ब्रह्मांड में भी 9 ही अंक होते हैं| अतः इन 9 अंकों का ब्रह्मांड के 9 ही ग्रहों से संबंध होता है| अब पहले यह जान लें कि साल 2018 का मूलांक क्या है|

तो जब आप 2018 का 2018 में प्रयुक्त हुए सभी अंकों का अंक ज्योतिषीय तरीके से योग करें 2+0+1+8 = 11 = 1+1 = 2 प्राप्त होगा।

अब अगर आपको अपना मूलांक जानना है तो यह काम भी काफी आसान है| कई बार जातक गलती यह करते हैं कि वह अपना मूलांक जोड़ते समय अपने जन्म के वर्ष का जोड़ भी निकालने लगते हैं जबकि सच यह है कि जब मूलांक निकाला जाए तो साल के मुलाक़ को सबसे आखरी में जोड़ा जाता है. जैसे कि अगर आपका जन्म 19 मार्च को हुआ है तो तब आपका मूलांक इस तरह से निकाला जायेगा|

19+03+2=24= 6, तो आपका मूलांक जो हुआ वह 6 होगा. आपको पहले साल के मूलांक निकालने की जरूरत है और सबसे आखरी में आप बस उस साल के मूलांक को रखें ना कि अपने जन्म के साल या नाम के अंकों को जोड़ें. आपको जिस साल का अपना भविष्यफल जानना है उसके मूलांक को सबसे आखरी में जोड़ लें.

अगर आप अंकशास्त्र पर विश्वास नहीं करते हैं तो आपको बता दें कि अंकशास्त्र पिछले कुछ 10000 सालों से चला हुआ आ रहा है| अंकशास्त्र में बताई हुई भविष्यवाणी काफी सटीक और सीधी होती है| अगर आप भी अपने जीवन में धन व्यवसाय या अपने पारिवारिक निजी जीवन को लेकर परेशान रहते हैं तो आपको अंकशास्त्र के अनुसार अपने साल की व्यवसाय या निजी जीवन की रिपोर्ट एस्ट्रोस्वामीजी की मदद से तैयार करवा लेनी चाहिए| एस्ट्रोस्वामीजी के अनुभवी ज्योतिषाचार्य आपकी एक सही और सटीक रिपोर्ट बनाकर आपके जीवन को सरल और आसान बनाने में आपकी मदद कर सकते हैं|