Diwali Kab Hai - दिवाली 2019 लक्ष्मी पूजा मुहूर्त

दिवाली हिंदुओं का एक प्रमुख त्यौहार है और यह त्यौहार भारतवर्ष में हर जगह मनाया जाता है। हिंदुओं के त्योहारों की बात करें तो दिवाली ऐसा त्यौहार है जब व्यक्ति बुराइयों का नाश कर सत्य का साथ देता हुआ नजर आता है। भगवान श्री राम जब अयोध्या वापस लौट कर आये थे तो उस खुशी में भारतवर्ष में चारों तरफ दीप जलाए गए थे और तभी से दिवाली निरंतर भारत में हिंदू का एक प्रमुख त्यौहार बना हुआ है। साल 2019 में दिवाली 27 अक्टूबर, रविवार दिन  के दिन मनाई जायेगी।

दिवाली लक्ष्मी पूजा महत्व

दिवाली के दिन हिंदुओं के घरों में महालक्ष्मी की पूजा का विशेष प्रबंध किया जाता है। ऐसा बताया जाता है कि दिवाली के दिन लक्ष्मी जी की पूजा करने से सालभर घर में लक्ष्मी मां का वास रहता है और लक्ष्मी जी की कृपा से परिवार खुश रहता है। इस दिन घरों में दीपदान किया जाता है। व्यापारी लोग दिवाली को नव वर्ष के रूप में मनाते हैं। समाज में लोग एक दूसरे से मिलते हुए भी नजर आते हैं। तो आइए आपको बताते हैं कि साल 2019 में 27 अक्टूबर 2019 को जो दिवाली आने वाली है उस दिन पूजा का शुभ मुहूर्त क्या है?

दिवाली पर्व को ओर ख़ास बनाये, परामर्श करे भारत के जाने-माने ज्योतिषाचार्यो से।

यह हैं 2019 लक्ष्मी पूजा मुहूर्त

दिवाली लक्ष्मी पूजा मुहूर्त - 17:57 से 19:53

प्रदोष काल - 17:27 से 20:06

वृषभ काल - 17:57 से 19:53

अमावस्या तिथि आरंभ - 22:27 (27 अक्टूबर)

अमावस्या तिथि समाप्त - 21:31 (28 अक्टूबर)

लक्ष्मी पूजा के समय रखे इन बातो का ध्यान

माता लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए आपको इस दिन शाम के समय माता लक्ष्मी की विशेष आरती और उनके मंत्रों के उच्चारण से माता लक्ष्मी और उनके परिवार की पूजा अर्चना करनी चाहिए। साथी ही साथ आपको बता दें कि कुछ लोग माता लक्ष्मी के इस दिन उपवास करते हुए भी नजर आते हैं। उपवास करने से माता लक्ष्मी विशेष रूप से प्रसन्न होती हुई दिखती है। शाम के समय घर के अंदर विशेष शक्तियां वास करने लग जाती है इसलिए दिवाली 2019 के दिन आप शाम के समय माता लक्ष्मी की पूजा करना बिलकुल ना भूले और इस दिन अगर आप माता लक्ष्मी का उपवास कर सकें तो इससे बेहतर कुछ नहीं होगा।

यह भी पढ़े

दिवाली पर्व का महत्व

Recently Added Articles
विष योग (Vish Yog) - कारण और निवारण
विष योग (Vish Yog) - कारण और निवारण

कुंडली युगों में एक योग ऐसा भी शामिल है। जिसके नाम से ही मनुष्य विचलित हो जाता है। जी हां, विष योग ही वह योग है...

सोमनाथ ज्योतिर्लिंग मंदिर का महान इतिहास
सोमनाथ ज्योतिर्लिंग मंदिर का महान इतिहास

गुजरात के पश्चिमी तट पर सौराष्ट्र में वेरावल के पास प्रभास पाटन में स्थित सोमनाथ मंदिर, शिव के बारह ज्योतिर्लिंग मंदिरों...

Diwali Kab Hai, दिवाली 2019 लक्ष्मी पूजा मुहूर्त, Lakshmi Puja 2019
Diwali Kab Hai, दिवाली 2019 लक्ष्मी पूजा मुहूर्त, Lakshmi Puja 2019

दिवाली हिंदुओं का एक प्रमुख त्यौहार है और यह त्यौहार भारतवर्ष में हर जगह मनाया जाता है। हिंदुओं के त्योहारों की बात करें तो दिवाली...

रानू मारिया मंडल - क्या कहती है इनकी कुंडली?
रानू मारिया मंडल - क्या कहती है इनकी कुंडली?

रानू मारिया मंडल का जन्म वेस्ट बंगाल के नाडिया जिले के कृष्णा नगर में हुआ था। रानू मारिया मंडल ने बॉलीवुड के महान कलाकार...