वैदिक ज्योतिष

ब्रह्मांड में ग्रहों का महत्व काफी अधिक बताया गया है| ग्रह वैसे तो अगर आप वैज्ञानिक रूप से देखेंगे तो आपको अपने किसी काम के नजर नहीं आएंगे लेकिन ज्योतिष शास्त्र में इन ग्रहों का विशेष महत्व लिखा हुआ है|

आपको बता दें की कुंडली में ग्रहों के बिना समस्याओं और घटनाओं का आकलन करना काफी मुश्किल हो जाएगा| हर राशि का स्वामी एक ग्रह होता है और वह ग्रह जातक या व्यक्ति को पूरी तरीके से प्रभावित करता हुआ नजर आता है|

हर व्यक्ति की एक राशि होती है और उस राशि का स्वामी एक ग्रह होता है और उसी ग्रह के अनुसार या फिर ग्रह की चाल के अनुसार ही व्यक्ति के जीवन में घटनाएं हो रही होती हैं| अब अगर आप ज्योतिष नजर से देखें तो ग्रहों का महत्व आप समझ सकते हैं| ज्योतिष शास्त्र में जब आप अपनी कुंडली का आकलन किसी एक अनुभवी ज्योतिषी ज्योतिषाचार्य से कराते हैं तो वह आपकी कुंडली में सबसे पहले ग्रहों का अध्ययन करता है कि किस ग्रह की नजर आपकी कुंडली के किस घर पर है या फिर कौन सा ग्रह आपको उस समय ज्यादा प्रभावित करता हुआ नजर आ रहा है|

कई बार जातक की कुंडली में ग्रह उसके अनुकूल होते हैं तो उसके जीवन में हर चीज उसके अनुकूल घटनायें हो रही होती हैं तो कई बार यही ग्रह व्यक्ति को परेशान करते हुए भी नजर आते हैं|

हर राशि का मिजाज अलग होता है और उसके मिजाज के पीछे जो एक सबसे प्रमुख कारण होता है वह ग्रह होता है| अगर आपकी राशि के स्वामी देव ग्रह हैं तो उस राशि के जातक का व्यवहार भी देव रूप में नजर आएगा और अगर ग्रह अनुकूल नहीं है तो उस राशि के जातक का व्यवहार इंसान या फिर देवताओं से अलग नजर आएगा| इसलिए कुंडली में ग्रहों का विशेष महत्व बताया गया है|

ग्रह, भाव, राशि कुंडली और ज्योतिष शास्त्र के ये तीनो मुख्य आयाम हैं| जहां तक भाव और राशियाँ हैं, तो ये हमेशा ब्रह्मांड में स्थिर हैं, अर्थात जड़ वस्तु हैं, लेकिन ग्रह जड़ होते हुए भी चेतन होते हैं|

ग्रह परिभ्रमण करके जगत के परिवर्तन के नियम को शाश्वत बनाते हैं और “ग्रहाधीनाम जगत सर्वं ’’ का सीधा अर्थ है कि समस्त जगत का संचालन, पतन विभिन्न ग्रहों की अनेक प्रकार की गतियों- स्थितियों-परस्थितियो पर निर्भर करता है|

इन्हीं ग्रहों के कारण ही कई बार जातक के ऊपर कई तरीके के दोष आ जाते हैं और इन दोष को दूर करने का तरीका ग्रहों को शांति प्रदान करना बताया गया है| अगर आप भी अपने जीवन में कई तरीके की समस्याओं से परेशान है या फिर आपका काम धंधा नहीं चल रहा है या फिर आपके पारिवारिक क्लेश खत्म नहीं हो रहे हैं तो आपको जल्द से जल्द एस्ट्रोस्वामीजी की ज्योतिष सेवा की मदद ले लेनी चाहिए|

हमारे ज्योतिषाचार्य आपकी कुंडली का अध्ययन करके आपको बताएंगे कि आप किस ग्रह दोष से पीड़ित है और आपको उस दोष से मुक्त होने के लिए जल्द से जल्द क्या काम करना चाहिए| ग्रहों को अगर शांत रखा जाए या फिर आप का स्वामी ग्रह जो भी है उस ग्रह को शक्ति प्रदान की जाए तो उसे आपका जीवन सफल होता हुआ नजर आ सकता है| इसलिए अगर आप अपने जीवन में किसी भी तरीके की समस्या से दो-चार हो रहे हैं या फिर आप परेशान हैं तो आपको जल्द से जल्द एस्ट्रोस्वामीजी की ज्योतिष सेवा से सम्पर्क कर लेना चाहिए|