एस्ट्रोस्वामीजी की ओर से नववर्ष 2020 की हार्दिक शुभकामनाये! अभी साइन-अप करे और पायें 100 रु का मुफ्त टॉक-टाइम ऑनलाइन ज्योतिष परामर्श पर!

बुध गोचर 2019 - वृश्चिक से धनु राशि में बुधवार, 25 दिसंबर, 2019

क्या होता है गोचर ? गोचर का सामान्य शब्दों में अगर आपको अर्थ बताएं तो इसका अर्थ गमन यानी कि आगे बढ़ना चलना होता है। गोचर शब्द में गो नक्षत्र से जुड़ा हुआ शब्द है। चर का मतलब होता है चलना। इसलिए संपूर्ण अर्थ गोचर का यही निकलता है कि ग्रहों का आगे बढ़ना। ज्योतिष शास्त्र में ऐसा बताया गया है कि सूर्य से लेकर राहु-केतु तक सभी ग्रह अपनी गति से आगे बढ़ते रहते हैं और इन ग्रहों की गति का असर व्यक्ति के जीवन पर निश्चित रूप से पड़ता है। ग्रहों में चंद्रमा का गोचर सबसे कम अवधि का होता है क्योंकि यह सबसे तेज गति से आगे बढ़ता है। वहीं दूसरी तरफ शनि की गति सबसे धीमी बताई गई है और शनि का गोचर अधिक समय का हो रहता है।

ग्रह लगातार विभिन्न राशियों में भ्रमण करते हुए नजर आते हैं। ग्रहों के इसी भ्रमण का असर राशियों पर पड़ता है और उसी को गोचर फल कहते हैं। सूर्य, शुक्र, बुध का भ्रमण काल एक माह का रहता है। चंद्रमा हमेशा सवा 2 दिन के बाद अपनी गति से आगे बढ़ता है। मंगल का गोचर 57 दिन का होता है, गुरु का 1 वर्ष का, राहु और केतु एक से डेढ़ वर्ष में अपना घर बदलते हैं तो वही शनि ढाई वर्ष में अपना घर बदलता है।

जानिए आपकी कुंडली के अनुसार बुध गृह आपके लिए लाभकारी होंगे या नहीं। जानने के लिए परामर्श करें हमारे प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यो से।

बुध गोचर 2019 से आपकी राशि पर होने वाले प्रभाव

ग्रह गोचर के अंदर बुध का स्थान चौथा बताया गया है। बुध को ज्योतिष शास्त्र में बुद्धि का स्वामी बोला जाता है। बुद्धि के साथ-साथ बुध का असर व्यक्ति के व्यापार और उसके निजी जीवन पर भी पड़ता हुआ नजर आता है। बुध ग्रह की एक विशेषता यह भी रही है कि यह क्रूर ग्रहों के साथ जैसे सूर्य मंगल के साथ युति होने पर क्रूर ही प्रभाव देता है। जिस ग्रह के साथ  बुध होता है वह उसी के जैसा प्रभाव देने लगता है, यानी कि अगर बुध किसी अच्छे ग्रह के साथ बैठा हुआ है तो वह अच्छा फल देता है और अगर वह पाप ग्रह जैसे कि राहु, केतु और शनि के साथ है तब वह बुरा प्रभाव देना शुरू कर देता है। साल 2019 के अंदर बुध गोचर (budh gochar) की बात करें तो 25 दिसंबर 2019 को बुध वृश्चिक से धनु राशि में प्रवेश करेगा। शाम के 3:44 पर बुध वृश्चिक से धनु राशि में आ जाएगा। तो आइए जानते हैं कि जब 25 दिसंबर को  बुध धनु राशि में आएगा तो यह किस राशि पर किस तरीके का प्रभाव डालता हुआ दिख सकता है।

राशिनुसार जाने बुध गोचर का प्रभाव

मेष

बुध गोचर 2019 (Mercury Transit) के बाद व्यापार में स्थाई रूप से किसी प्रकार की रुकावट आ सकती है। उच्च अधिकारियों से संबंध आपकी पद्दोन्नति के मार्ग परस्त करेंगे। अपनी बुद्धि और विवेक के दम पर आप अपनी मुश्किलों को हल करते हुए नजर आएंगे।  पत्नी एवं बच्चों के स्वास्थ्य में दिक़्क़तों का सामना करना पड़ सकता है। 

वृष

बुध गोचर 2019 के बाद आपको अपनी भावनाओं पर काबू रखना होगा। बहुत अधिक उत्साह के साथ यदि आप उसमें आपको हानि उठानी पड़ सकती है।  लोगों से रिश्ते ना खराब करें यही रिश्ते आपको आगे भविष्य में मदद कर सकते हैं। आपको व्यापार में अन्य महीनों की तुलना में अधिक धन लाभ होगा।

मिथुन

बुध गोचर 2019 के बाद आपके जीवन में कई अच्छे परिवर्तन आते हुए नजर आएँगे।  आपकी सोच सकारात्मक हो जाएगी और आप हर चीज को सकारात्मक रूप से लेने लगेंगे।  व्यवहार के क्षेत्र में भी आपको लाभ प्राप्त होता हुआ नजर आ सकता है। बुध गोचर आपके लिए कई सारी खुशख़बरी लेकर आएगा।

कर्क

बुध गोचर 2019 लंबे समय से खराब चल रही प्रेम रिश्तों को एक बार फिर से सही करने का काम करेगा।  कार्य-क्षेत्र में आपको अपनी पसंद का काम करने को मिल सकता है। बॉस के साथ जो रिश्ते अभी तक खराब चल रहे थे वह आपकी बुद्धि के दम पर सही हो जाएंगे।  निकट समय में आप कहीं पर निवेश करते हुए नजर आ सकते हैं।

सिंह

बुध गोचर 2019 (Budh Gochar 2019) के बाद उच्च अधिकारियों के साथ मिलकर किसी एक बड़ी परियोजना पर काम करते हुए नजर आ सकते हैं।  आपके लिए विदेश यात्रा के योग बन सकते हैं और आप निकट भविष्य में विदेश यात्रा के लिए जा सकते हैं। स्वास्थ्य को लेकर आपको अपने ऊपर ध्यान रखने की आवश्यकता होगी।

कन्या

बुध गोचर 2019 कन्या राशि वालों के लिए सबसे अधिक फलदायक साबित हो सकता है।  पुराने समय से चल रहे विवाद खत्म हो सकते हैं और फैसला आपके पक्ष में जाने की पूरी संभावनाएं दिख रही हैं।  अपनी भावनाओं पर काबू रखें और हर किसी के साथ बातें शेयर करने से बचें।

तुला

बुध गोचर 2019  के बाद आपके स्वास्थ्य को लेकर आपको अधिक चिंता हो सकती है स्वास्थ्य के ऊपर आपका काफी अधिक पैसा खर्च हो सकता है। कार्य-क्षेत्र के लिए यह गोचर अच्छा साबित होगा और आपको कहीं ना कहीं से इन्वेस्टमेंट मिलती हुई नजर आ सकती है।

वृश्चिक

बुध गोचर 2019 में जो कार्य लंबे समय से अटका हुआ था उसे आप करने में सक्षम होंगे। जीवन के महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में जानने के बाद आश्चर्य चकित होंगे। आपको व्यापार में सामान्य दिनों की अपेक्षा अधिक धन लाभ होगा। 

धनु

बुध गोचर 2019 आपको व्यवसाय क्षेत्र की ओर से कई बड़े प्रस्ताव मिल सकते हैं। आर्थिक रुप में आप बेहतर स्थिति में नजर आएँगे। आप अपने उच्च अधिकारियों से मतभेद कर अपने लिए कुछ दिक्कतें उत्पन्न कर सकते है इसलिए आप खुद पर संयम बनाए रखें।

मकर

बुध गोचर 2019 आपकी चतुराई और समझदारी वाला समय बोला जा सकता है आप अपनी बुद्धि के दम पर बड़े से बड़े काम को हल करते हुए नजर आ सकते हैं।  परिवार में प्रत्येक व्यक्ति आपकी बात सुनेगा और आपकी कही गई बातों को अमल में लाएगा। आप यदि अपने बच्चों की शादी को लेकर पिछले काफी समय से चिंतित हैं तो जल्द ही आपकी यह समस्या भी खत्म हो जाएगी।

कुंभ

बुध गोचर 2019 (Budh Gochar 2019) आपके निजी जीवन में उथल पुथल उत्पन्न कर सकता है। कार्य-क्षेत्र में उत्साह पूर्ण रवैया आपकी तरक्की के मार्ग को परास्त करेगा। पारिवारिक विवाद के दोनों पहलुओं को सोच समझकर सुलझाने की कोशिश करें।

मीन

बुध गोचर 2019 आपके जीवन में आ रही रुकावटों कामों को खत्म कर सकता है।  आपके लिए एक सलाह है कि आप गोचर के समय गुस्से के द्वारा कोई भी काम ना करें,  आपका गुस्सा आपकी काम बिगाड़ सकता है। परिवार में सब कुछ सही रहेगा और व्यापार के क्षेत्र में भी आपको लाभ प्राप्त होता रहेगा।

Recently Added Articles
पौष पूर्णिमा 2020 - पौष पूर्णिमा व्रत और पूजा विधि 2020
पौष पूर्णिमा 2020 - पौष पूर्णिमा व्रत और पूजा विधि 2020

इस साल पौष पूर्णिमा 10 जनवरी 2020 को है। पौष पूर्णिमा माघ मास से पहले आती है और माघ मास में भगवान का विशेष प्रकार से पूजन किया जाता है।...

Vivah Muhurat 2020 - जनिये कब-कब है विवाह मुहूर्त
Vivah Muhurat 2020 - जनिये कब-कब है विवाह मुहूर्त

विवाह की तारीख तय करते समय विवाह मुहूर्त महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। विवाह को लेकर हिन्दू शास्त्रों में विशेष रूप से व्यवस्था की गयी है।...

2020 में अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) कब हैं? तारीख व मुहूर्त
2020 में अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) कब हैं? तारीख व मुहूर्त

अक्षय तृतीया जिसे आखा तीज के नाम से भी जाना जाता है, हिंदू समुदायों के लिए अत्यधिक शुभ और पवित्र दिन है।...

Mercury Transit 2019 - वृश्चिक से धनु राशि में बुध गोचर 2019
Mercury Transit 2019 - वृश्चिक से धनु राशि में बुध गोचर 2019

क्या होता है गोचर ? गोचर का सामान्य शब्दों में अगर आपको अर्थ बताएं तो इसका अर्थ गमन यानी कि आगे बढ़ना चलना होता है।...


2020 is your year! Get your YEARLY REPORTS now and know what SURPRISES are hidden for you in 2020
Already Have an Account LOGIN