आज के ऑफर : 300Rs तक के रिचार्ज पर 10% EXTRA और 500Rs या उससे ऊपर के रिचार्ज पर 15% EXTRA प्राप्त करें।

Surya Grahan 2020 Date and Time- 21st जून को लगने वाला ग्रहण क्यों है खास

Surya Grahan (सूर्य ग्रहण) 2020: 21 जून को लगने वाला सूर्य ग्रहण न तो पूरी तरह से आंशिक होगा और ना ही पूर्ण सूर्य ग्रहण होगा। विशेषज्ञों का मानना हैं की 21 जून 2020 को चन्द्रमा 85%-90% ही सूर्य को ढक पायेगा। जिससे सूर्य का आकर एक अग्नि में लपटी हुई अंगूठी की तरह दिखाई देगा। जानकारी के लिए आपको बता दें कि इस सूर्य ग्रहण मे कई बातों का ध्यान रखना जरूरी है। बता दें कि अगर ग्रहण शनैश्चरी अमावस्या के दिन पड़ता है तो उस दिन, स्तोत्र-पाठ, जप-पाठ, दान और, तीर्थस्थान, मंत्र सिद्धि और हवन आदि का काफी महत्व बढ़ जाता है।

क्या होता है सूर्य ग्रहण

सूर्य ग्रहण कैसे होता है इसके बारे में अगर आपको बताएं तो जब चंद्रमा, सूर्य और पृथ्वी के बीच में से होकर जाता है तो इस खगोलीय घटना को ही हम सूर्य ग्रहण कह सकते है। दरअसल इस स्थिति में चंद्रमा की छाया सूर्य पर पड़ जाती है जिसके कारण ग्रहण होता है। आपकी जानकारी के लिए बता दे की साल 2020 का यह सूर्य ग्रहण न तो आंशिक है और न ही पूर्ण सूर्य ग्रहण है।

Surya Grahan 2020 Date and Time - कब से कब तक होगा सूर्य ग्रहण 2020 

जून 21, 2020 को सूर्य ग्रहण 10 बजकर 36 मिनट शुरू हो जाएगा जो 11 बजकर 58 मिनट तक चरम तक पहुँचेगा और 1 बजकर 36 मिनट पर समाप्त हो जाएगा। इस दौरान कई बातों का विशेष ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है।

भारत सूर्य ग्रहण 2020

सूर्य ग्रहण प्रारम्भ काल - 10 बजकर 36 मिनट, जून 21, 2020

सूर्य ग्रहण मध्यकाल - 11 बजकर 58 मिनट, जून 21, 2020

सूर्य ग्रहण समाप्ति काल - 1 बजकर 36 मिनट, जून 21, 2020

खण्डग्रास की अवधि - 04 घण्टे 00 मिनट

सूतक का भी रखें ध्यान

आपको बता दें कि जून 20, 2020 को होने वाले सूर्य ग्रहण के दिन 10:36 बजे से सूतक लग जाएगा जो 10:56 मिनट तक रहेगा। इसमें कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए वो हमने नीचे बताये है।

सूतक के दौरान न करें ये काम

1. इस दौरान किसी भी प्रकार का नया काम शुरू न करें।

2. भोजन न तो बनाएं और न ही इस दौरान खाना खाएं।

3. शौच न जाएं सूतक के दौरान।

4. सबसे अहम बात तो यह है कि आपको इस दौरान देवी-देवताओं की मूर्ती और तुलसी के पौधों का स्पर्श न करें।

5. सूतक के दौरान दांतुन न करें और साथ ही बालों में कंघी भी न डालें।

ये कुछ कार्य जो ग्रहण के दौरान अवश्य करने चाहिए

1. सूतक के दौरान आप सूर्य संबंधित मंत्रों का उच्चारण कर सकते है। इससे बहुत फायदा होगा।

2. जब ग्रहण समाप्त हो जाए तो उसके बाद घर में पुनः शुद्धिकरण के लिए गंगाजल का छिड़काव अवश्य करें।

3. ग्रहण की समाप्ति के तत्पश्चात स्नान अवश्य करें।

4. जब ग्रहण और सूतक समाप्त हो जाए तो इसके बाद देवी-देवताओं की मूर्तियों को गंगाजल से शुद्ध करें।

5. ग्रहण से पहले बनाया गया खाना न खाएं और ताजा खाना बनाएं।

सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को रखनी चाहिए इन बातों का विशेष ध्यान

1. सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को काफी बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है जैसे:

2. ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर न निकलना चाहिए।

3. ग्रहण को देखने की गलती कतई न करें।

4. सिलाई एवं कढ़ाई का काम न करें।

5. ग्रहण के दौरान सब्जी न काटें और कुछ भी सब्जी या फल न चीलें।

6. सुई तथा चाकू का प्रयोग न करें।

बदलेगा मौसम का मिज़ाज़

वैदिक ज्योतिष के अनुसार सूर्य ग्रहण से एक दिन पहले मंगल राशि परिवर्तन करके जल-तत्व राशि वृश्चिक में गोचर करेगा। जिसके कारन मौसम में परिवर्तन देखने को मिल सकता है। मंगल का राशि परिवर्तन भारी बर्फ़बारी, भूकंप, और भारी बारिश की ओर संकेत कर रहा है।

सूर्य ग्रहण का आपकी राशि पर और नये साल पर क्या प्रभाव पड़ेगा? ज्योतिषीय परामर्श के लिये गाइडेंस लें इन्डिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से।


Recently Added Articles
कन्या राशि (Kanya Rashi) - Virgo in Hindi
कन्या राशि (Kanya Rashi) - Virgo in Hindi

कन्या राश‍ि (Virgo) में जन्में लोग विवेकशील होते हैं। ये लोग अपनी मेहनत के दम पर जीवन में सफलता का स्वाद चखते हैं। कन्या राश‍ि के जातक न्यायप्रिया होन...

सिंह राशि (Singh Rashi) - Leo in Hindi
सिंह राशि (Singh Rashi) - Leo in Hindi

सिंह राश‍ि (Leo) के लोगों नाम के अनुरूप ही साहसी, निडर और आत्मविश्वास से संपन्न होते हैं। इस राश‍ि के लोग हमेशा ऊर्जावान होते हैं।...

मेष राश‍ि (Mesh Rashi) - Aries in Hindi
मेष राश‍ि (Mesh Rashi) - Aries in Hindi

मेष राश‍ि (Mesh Rashi) का स्वामी मंगल होने के कारण मेष राश‍ि (Aries) वाले मनुष्य ऊर्जा से लिप्त होते हैं। ...

वृश्च‍िक राश‍ि (Vrishchik Rashi) - Scorpio in Hindi
वृश्च‍िक राश‍ि (Vrishchik Rashi) - Scorpio in Hindi

वृश्च‍िक राश‍ि (Vrishchik Rashi) का स्थान राश‍ि चक्र और तारामंडल में आठवें स्थान पर है। यह राश‍ि उत्तर दिशा में वास करती है और इसे शीर्षोदयी राश‍ि भी ...


2020 आपका साल है! अब अपनी पूरी रिपोर्ट प्राप्त करें और जानें कि 2020 में आपके लिए कौन से नियम छिपे हैं
पहले से ही एक खाता है लॉग इन करें

QUERY NOW !

Get Free Quote!

Submit details and our representative will get back to you shortly.

No Spam Communication. 100% Confidentiality!!