आचार्य नानक धवन

आचार्य नानक धवन

अनुभव : 9 साल 12 महीने
भाषा: [English] [HIndi]
₹30.00 / Min.
ऑफ़लाइन

आचार्य जी के बारे में

आचार्य नानक धवन जी एक प्रसिद्ध वैदिक ज्योतिष हैं। गणित में स्नातकोत्तर करने के बाद आचार्य नानक धवन जी ने नई दिल्ली स्थित भारतीय विद्या भवन से आचार्यशिप में डिग्री हासिल की है। वह पिछले एक दशक से अपने विशेष ज्ञान और ज्योतिष विद्या के माध्यम से लोगों की समस्याओं का समाधान कर रहे हैं। आचार्य नानक जी प्यार, विवाह, कैरियर, कुंडली मिलान, व्यापार, शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे विभिन्न समस्याओं पर लोगों की मदद करते हैं। अब तक वह ऐसे हजारों समस्याओं से जूझ रहे लोगों को एक सफल सुझाव के माध्यम से लाभान्वित कर चुके हैं। आचार्य नानक भवन जी प्रश्न कुंडली (होरा चार्ट) तथा शकुन शास्त्र (ओमेन)के विशेषज्ञ हैं। बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्हें अपनी जन्म तिथि और समय सही से ज्ञात नहीं होता है। ऐसे में सबसे बड़ी समस्या ज्योतिष के सही अनुमान और समस्या समाधान की आती है क्योंकि बिना समय और तिथि ज्ञात के सही और सटीक भविष्यवाणी कर पाना कठिन हो जाता है। कुछ लोग ऐसा मान सकते हैं कि वर्तमान में इस समस्या का समाधान कम हो गया है क्योंकि अस्पतालों में शिशु के जन्म से जन्म की तिथि और समय ज्ञात हो जाता है लेकिन इसके बावजूद उलझन कमोबेश अब भी मौजूद है। आमतौर पर शिशु के गर्भ से बाहर आने को ही जन्म समय माना जाता हैया पहली सांस लेने को भी जन्म समय मानते हैं। ऐसे दुविधा में आचार्य नानक जी का प्रश्न कुंडली ज्ञान काम आता है क्योंकि प्रश्न कुंडली के लिए जन्म तिथि और समय का सही और सटीक होना जरूरी नहीं है। इस प्रश्न कुंडली में आचार्य नानक जी पूछे गए सवालों के जवाब के आधार पर भविष्य देखने का प्रयास करते है इसलिए इसके माध्यम से समस्या का समाधान बिल्कुल सटीक किया जा सकता है। कई बार जातक कुंडली लेकर आता है तो भी उसमें कुछ संदेह रहता है जिसे आचार्य जी ‘ओमेन’ जो किस संकेतों का विज्ञान है, उस के माध्यम से व्यक्ति के समस्या का समाधान किया जाता है। आचार्य जी के पास आने का समय तथा व्यक्ति की कुंडली दोनों एक दूसरे के पूरक के रूप में काम करते हैं। ऐसे में प्रश्न कुंडली फलादेश के सही होने की गारंटी को बढ़ा देता है। आचार्य नानक धवन जी अपने वैदिक अनुभवों और ज्योतिष ज्ञान के माध्यम से सर्वोत्तम उपचार और सटीक भविष्यवाणी करने में सक्षम है। गणित में विशेषज्ञ होने के कारण गणितशास्त्र का भी इस्तेमाल लोगों के पूर्व जन्म को समझने के लिए करते हैं तथा समस्या का समाधान करते है।