>

मंगलसूत्र ज्योतिषीय महत्व और रहस्य

मंगलसूत्र: ज्योतिषीय महत्व और रहस्य

मंगलसूत्र, केवल एक आभूषण नहीं, सदैव सौभाग्य का प्रतीक! सदियों से भारतीय नारी के गले में शोभित यह रत्न, धागों से परे, ज्योतिषीय शक्तियों से भी गहराई से जुड़ा हुआ है।

प्राचीन काल से चली आ रही परंपरा
मंगलसूत्र सदैव से विवाहित स्त्री के सौभाग्य और पति की दीर्घायु का प्रतीक रहा है। ज्योतिष शास्त्र में, मंगल ग्रह को विवाह, स्त्री सुख और समृद्धि का कारक माना जाता है। मंगलसूत्र में ज्योतिषीय रत्नों का समावेश, इसी ग्रह को शांत करने और शुभ फल प्राप्त करने का माध्यम माना जाता है।

राशियों के अनुसार रत्नों का महत्व
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, प्रत्येक राशि के लिए शुभ रत्न निर्धारित हैं। मंगलसूत्र में इन रत्नों का समावेश, स्त्री के जीवन में खुशहाली, समृद्धि और वैवाहिक जीवन में सुख-शांति लाने में सहायक होता है।

 

मेष राशि मूंगा रत्न से युक्त स्वर्ण मंगलसूत्र
वृषभ राशि मोती रत्न से युक्त चांदी मंगलसूत्र
मिथुन राशि पन्ना रत्न से युक्त तांबे या स्वर्ण मंगलसूत्र
कर्क राशि मछली या समुद्री चिन्हों वाला चांदी मंगलसूत्र
सिंह राशि माणिक्य रत्न से युक्त स्वर्ण मंगलसूत्र
कन्या राशि पन्ना रत्न से युक्त चांदी मंगलसूत्र
तुला राशि हीरा रत्न से युक्त मंगलसूत्र
वृश्चिक राशि मूंगा रत्न से युक्त मंगलसूत्र
धनु राशि पुखराज रत्न से युक्त पीले रंग का मंगलसूत्र
मकर राशि नीलम रत्न से युक्त लौह धातु का मंगलसूत्र
कुंभ राशि गोमेद रत्न से युक्त मंगलसूत्र
मीन राशि मूंगा रत्न से युक्त स्वर्ण मंगलसूत्र

धागे का रहस्य
पारंपरिक रूप से, मंगलसूत्र काले या लाल धागे में पिरोया जाता था। ज्योतिष में, काला धागा शनि ग्रह का प्रतीक माना जाता है, जो कर्म और न्याय का कारक है। लाल धागा मंगल ग्रह का प्रतीक माना जाता है।

 

मंगलसूत्र धारण करते समय ध्यान रखने योग्य बातें
मंगलसूत्र हमेशा हृदय के पास पहना जाना चाहिए।
मंगलसूत्र को धारण करने से पहले किसी ज्योतिषी से सलाह लें।
मंगलसूत्र को हमेशा स्वच्छ और पवित्र रखें।
मंगलसूत्र को कभी भी किसी को उधार न दें।
निष्कर्ष
मंगलसूत्र केवल एक आभूषण नहीं, बल्कि स्त्री के सौभाग्य, समृद्धि और वैवाहिक जीवन में खुशहाली का प्रतीक है। ज्योतिषीय रत्नों का समावेश इसे और भी अधिक शक्तिशाली बनाता है।

ध्यान दें: यह जानकारी केवल सामान्य जानकारी के उद्देश्य से है। किसी भी ज्योतिषीय उपाय को अपनाने से पहले किसी योग्य ज्योतिषी से सलाह अवश्य लें।


Recently Added Articles
तुलसीदास जयंती  महान संत और कवि तुलसीदास का जीवन और योगदान
तुलसीदास जयंती महान संत और कवि तुलसीदास का जीवन और योगदान

तुलसीदास जी का नाम भारतीय साहित्य और संस्कृति में स्वर्ण अक्षरों में लिखा हुआ है।...

प्रभास, एक प्रसिद्ध भारतीय अभिनेता की ज्योतिषीय  कुंडली का विश्लेषण.
प्रभास, एक प्रसिद्ध भारतीय अभिनेता की ज्योतिषीय कुंडली का विश्लेषण.

प्रभास, जिन्हें प्रभास राजू उप्पलापति के नाम से भी जाना जाता है, एक प्रसिद्ध भारतीय अभिनेता हैं ...

प्यार, पैसा, व्यापार, स्वास्थ्य:- के 24 महाउपाय
प्यार, पैसा, व्यापार, स्वास्थ्य:- के 24 महाउपाय

2024 एक नया साल है और इसके साथ नई उम्मीदें और चुनौतियां भी आती हैं...

इन राशियों को लगता है अँधेरे से डर
इन राशियों को लगता है अँधेरे से डर

अँधेरे का डर एक आम भय है जिसे बहुत से लोग अनुभव करते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, हमारी राशि हमारे स्वभाव और भावनाओं पर गहरा प्रभाव डालती है।...