आज के ऑफर : 300Rs तक के रिचार्ज पर 10% EXTRA और 500Rs या उससे ऊपर के रिचार्ज पर 15% EXTRA प्राप्त करें।

Makar Sankranti 2020 - कब है मकर संक्रांति और कैसे करनी चाहिए इस दिन पूजा

Makar Sankranti 2020 - जानिये कब है मकर संक्रांति और कैसे करनी चाहिए इस दिन पूजा

मकर संक्रांति, जिसे हम मकर संक्रान्ति भी कह सकते है। जबकि इस त्योहार को माघी के रूप में भी जाना जाता है, जो हिंदू कैलेंडर में देवता सूर्य के संदर्भ में एक त्योहार का दिन है। यह प्रत्येक वर्ष जनवरी में मनाया जाता है। मकर संक्रांति का यह पावन पर्व भारत ही बल्कि नेपाल में भी धूम धाम से मनाया जाता है।

मकर संक्रांति उन कुछ प्राचीन भारतीय त्योहारों में से एक है जो सौर चक्रों के अनुसार देखे गए हैं, जबकि अधिकांश त्योहार हिंदू कैलेंडर के चंद्र चक्र द्वारा निर्धारित किए गए हैं। हर साल (14 जनवरी) को उसी ग्रेगोरियन तिथि पर यह त्योहार पूरे देश भर में मनाया जाता है लेकिन कभी लीप वर्ष में यह तारीख ऊपर नीचे हो जाती है। मकर संक्रांति से जुड़े त्योहारों को उत्तर भारतीय हिंदुओं और सिखों द्वारा माघी या लोहड़ी जैसे विभिन्न नामों से जाना जाता है। आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तेलंगाना में मकर संक्रांति को (पेद्दा पांडगा), मध्य भारत में सुकरात, माघ बिहुबी असमिया, और तमिलनाडु में यह पोंगल के रूप में मनाया जाता है। निम्न श्लोक से स्पष्ट होता है-

माघे मासे महादेव: यो दास्यति घृतकम्बलम।

स भुक्त्वा सकलान भोगान अन्ते मोक्षं प्राप्यति॥

कब है मकर संक्रांति 2020

जैसा कि आप देख रहे ही है कि 2019 का आखिरी महीना चल रहा है और इसमें कुछ ही महीने बचे हुए है। तो साफ़ है कि अगले साल जनवरी में यह त्योहार मनाया जाने वाला है। लेकिन वैदिक हिन्दू ज्योतिष के अनुसार मकर संक्रांति का पर्व 2020 में 14 जनवरी के बजाय 15 जनवरी को ही मान्य होगा। दरअसल बात यह है कि सूर्य भगवान 14 जनवरी की रात में 7 बजकर 43 मिनट पर मकर राशि में प्रवेश करेंगे। इस कारण यह 15 जनवरी को ही मान्य बताया गया है।

मकर संक्रांति पर्व तिथि व मुहूर्त 2020

मकर संक्रांति 2020 - 15 जनवरी

संक्रांति काल - 07:19 बजे (15 जनवरी 2020)

पुण्यकाल - 07:19 से 12:31 बजे तक

महापुण्य काल - 07:19 से 09:03 बजे तक

संक्रांति स्नान - प्रात:काल, 15 जनवरी 2020

कैसे की जानी चाहिए पूजा

अब बात करते है पूजा कैसे की जानी चाहिए उसके बारे में। तो आपको बता दें कि मकर संक्रांति के दिन सुबह जल्दी उठकर तिल मिश्रित जल से स्नान किया जाना चाहिए। इसके बाद अच्छे और साफ़ सुथरे कपड़े पहनकर जहाँ पूजा की जानी है उस स्थल को अच्छे से साफ़ कर लें। फिर जमीन पर चंदन से कर्णिका सहित अष्टदल कमल बनाकर सूर्य भगवान आवाहन करके उन्हें स्थापित करें। इसके बाद सूर्य भगवान के पवित्र मंत्र का उच्चारण करना बहुत शुभ माना जाता है। इस प्रकार इस दिन नदी में स्नान करना भी बहुत पवित्र माना गया है।

मकर संक्रांति पर्व को और खास बनाने के लिये परामर्श करे इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से।

मकर संक्रांति का महत्व

अगर मकर संक्रांति के पर्व के महत्व की बात करें तो ऐसा सुनने को मिलता है कि इस शुभ दिन सूर्य भगवान अपने पुत्र शनिदेव से मिलने हेतु खुद उनके निवास स्थान पर जाते हैं। साथ ही यह भी कहा गया है कि शनिदेव ही मकर राशि के देवता हैं। इसी कारण इस त्योहार को मकर संक्रांति के नाम से जाना जाता है। वहीं कुछ सूत्रों के अनुसार महाभारत में पराक्रमी भीष्म पितामह ने अपने आपको त्यागने के लिये मकर संक्रांति के दिन को ही चुना था।


Recently Added Articles
DC VS KKR  -  IPL Match Prediction, 6th Match
DC VS KKR - IPL Match Prediction, 6th Match

दिल्ली कैपिटल्स की टीम को कमजोर समझना कोलकाता टीम के लिए भारी पड़ सकता है। श्रेयस अय्यर की कप्तानी में इस टीम ने पहले भी बेहतरीन प्रदर्शन करके दिखाया ...

IPL 2020 News - आईपीएल 2020 होगा या नहीं?
IPL 2020 News - आईपीएल 2020 होगा या नहीं?

आईपीएल 2020 को लेकर अब सभी की निगाह इस बात पर बनी हुई है कि इस साल आईपीएल होगा या नहीं होगा...

Vivo IPL 2020 Schedule - आईपीएल 2020 का पूरा शेड्यूल, टाइमिंग, ऑक्शन
Vivo IPL 2020 Schedule - आईपीएल 2020 का पूरा शेड्यूल, टाइमिंग, ऑक्शन

आईपीएल 2020 भारत क्रिकेट कंट्रोल द्वारा स्थापित किया गया 20-20 क्रिकेट लीग का 13 सीजन होने जा रहा हैं।...

CSK vs MI - 2020 Match Prediction
CSK vs MI - 2020 Match Prediction

IPL 2020 का पहला मैच 29 मार्च को शाम 8 बजे से शुरू हो जायेगा। चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस (CSK VS MI) के बीच यह मैच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम ...


2020 आपका साल है! अब अपनी पूरी रिपोर्ट प्राप्त करें और जानें कि 2020 में आपके लिए कौन से नियम छिपे हैं
पहले से ही एक खाता है लॉग इन करें