आज के ऑफर : 300Rs तक के रिचार्ज पर 10% EXTRA और 500Rs या उससे ऊपर के रिचार्ज पर 15% EXTRA प्राप्त करें।

2020 में दिवाली (Diwali) कब हैं? दिवाली 2020 तिथि व शुभ मुहूर्त

Diwali 2020 - दिवाली 2020

Diwali 2020: दिवाली या दीपावली भारतवासियों का सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार है। दिवाली का त्यौहार हिंदुओं के लिए बड़ा महत्व रखता है एक तरीके से दिवाली का त्यौहार जैसे कि हिंदुओं का नया साल होता है और नए साल की शुरुआत होती है। दिवाली का त्यौहार धार्मिक महत्व के कारण भी काफी महत्वपूर्ण है। भगवान श्री राम अपना वनवास खत्म करके और रावण के ऊपर विजय प्राप्त करके अयोध्या लौटे थे और जब भगवान राम अयोध्या लौटे तो हिन्दुओं ने इसी दिन को एक त्यौहार के रूप में मनाया था। चारों तरफ उजाला किया गया घी के दीये जलाए गए और भगवान राम की पूजा की गई थी। 2020 में दीपावली शनिवार के दिन आने वाली हैं।

दिवाली का ज्योतिष महत्व

बुराई पर अच्छाई की जीत और असत्य पर सत्य की जीत का यह त्यौहार हमेशा ही काफी धार्मिक महत्व रखता है। दिवाली या दीपावली का त्यौहार जहाँ एक तरफ धार्मिक महत्व रखता है तो वहीं दूसरी तरफ समाज को जोड़ने वाला भी यह त्यौहार बोला जाता है। सभी व्यक्ति अपनी दुश्मनी और गिले-शिकवे मिटाकर एक दूसरे से मिलते हैं और हमेशा के लिए एक हो जाते हैं। आपसी भाईचारे को बनाने के लिए भी दिवाली का त्यौहार काफी महत्वपूर्ण है। आइये जानते हैं इस त्यौहार के विधि विधान के बारे में और इस पर्व से जुडे कुछ रोचक किस्सों के बारे में।

क्यों दीपावली हमेशा कार्तिक माह में आती है?

दिवाली या दीपावली के त्यौहार बारे में हर कोई जानता हैं - यह एक त्यौहार है जो मुख्यतः भारत में हिंदुओं द्वारा मनाया जाता है। यह भारत के सबसे प्रमुख त्यौहारों में से एक है। दिवाली का अर्थ है- रोशन मिट्टी के दीपक। यह कार्तिका के हिंदू महीने में मनाया जाता है, जो अक्टूबर या नवंबर के दौरान आता है। इस दिन, लोग  घी से भरे दीपक जलाकर, 14 साल के वनवास के बाद भगवान राम के अयोध्या लौटने पर जश्न मनाते हैं। उस रात, इसे अमावस्या की रात होने के बावजूद, भगवान के स्वागत के लिए हजारों दीपों के कारण पूरी तरह से रोशन दिया जाता है। प्रकाश के साथ अंधेरे को दूर करना अज्ञानता के अंधेरे को खत्म करने और प्रकाश को फैलाने का प्रतीक है। चारों ओर ज्ञान। जहां एक ओर दिवाली, एक ऐसा त्यौहार है जो हमें प्रबुद्ध करता है, वहीं यह एक ऐसा त्यौहार भी है जो हमें खुशी और धन देता है, यही वजह है कि इस दिन लोग देवी लक्ष्मी की भी पूजा करते हैं। इसी वजह से दिवाली को प्रकाशोत्सव भी कहा जाता है। इस साल दिवाली का त्यौहार 14 नवंबर 2020 को मनाया जाने वाला है।

दिवाली 2020 लक्ष्मी पूजा का मुहूर्त

दिवाली 2020 तिथि: 14 नवंबर 2020, शनिवार

दिवाली 2020 लक्ष्मी पूजा मुहूर्त - 17:30:10 से 19:26:01 तक

दिवाली 2020 प्रदोष काल - 17:36 से 20:11 तक

दिवाली 2020 वृषभ काल - 17:27:47 से 20:07:03 तक

अमावस्या तीथि शुरू - 12:23 (14 नवंबर 2020)

अमावस्या तीथि समाप्त - 09:08 (15 नवंबर 2020)

दीपावली अपने साथ अन्य त्यौहार भी लेकर आती है, जैसे दीपदान, धनतेरस, गोवर्धन पूजा, भाई दूज आदि। यह वास्तव में एक सप्ताह तक चलने वाला त्यौहार है।

क्यों लोग दिवाली को अधिक महत्व देते हैं?

त्यौहार के रूप में दीवाली या दीपावली सांस्कृतिक, सामाजिक, धार्मिक और आर्थिक दृष्टिकोण से बहुत महत्वपूर्ण है। इस त्यौहार ने लोगों के बीच सभी धार्मिक भेदभावों को दूर कर दिया है और सभी धर्मों के लोग इस त्यौहार को अपने तरीके से मनाते हैं। यह त्यौहार विभिन्न संस्कृति के लोगों को एक साथ लाता है, लोग एक दूसरे से मिलने का समय निकालते हैं, जो लोग पूरे साल प्रार्थना नहीं कर सकते हैं, यह इस दिन प्रार्थना करने का एक बिंदु है और इन दिनों में सबसे गरीब से एक आर्थिक उछाल है पूरे साल दिवाली मनाने के लिए भी जतन करें। पूरे विश्व में, हालाँकि दीवाली के समान त्यौहारों को अलग-अलग नामों से बुलाया जाता है, लेकिन भारत में, विशेष रूप से, हिंदुओं के साथ, दिवाली का यह त्यौहार बहुत महत्वपूर्ण है।

दिवाली 2020 को आपके और आपके परिवार के लिए और अधिक लाभदायक बनाने के लिए, भारत के सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषियों से परामर्श करें!

धन की देवी देवी लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए यह दिन बहुत शुभ है। घर में सुख-समृद्धि और हमेशा की समृद्धि के लिए, व्यक्ति को पूरे दिन उपवास रखना चाहिए और सूर्य अस्त होने के बाद, "प्रदोष काल"के "सतिर लगन"में देवी लक्ष्मी से प्रार्थना करनी चाहिए। पूजा के लिए सही समय मिलना चाहिए। जिस स्थान पर पूजा की जा रही है, उसके अनुसार देवी के स्वागत के लिए पूरे घर की सफाई की जानी चाहिए।

दिवाली के दिन घर में लक्ष्मी जी की पूजा के साथ साथ अगर कुबेर जी की पूजा कर ली जाए तो यह काफी लाभदायक बताया जाता है। कुबेर जी धन के देवता हैं और धन की रक्षा करते हैं। इसलिए घर में दिवाली के दिन कुबेर जी की पूजा जरूर करनी चाहिए। साथ ही साथ इस तरीके की बातें भी बताई जाती है कि दिवाली के दिन अगर घर में छिपकली या घर के बाहर उल्लू देख लिया जाए तो यह भी काफी शुभ बताया जाता है। उल्लू जहां लक्ष्मी जी का वाहन है इसलिए भी उनकी पूजा दिवाली से पहले की जाती है। दिवाली के दिन घर को साफ-सुथरा करके भगवान गणेश और लक्ष्मी जी का पूजन किया जाता है और अंत में भगवान राम की पूजा करके भगवान से प्रार्थना की जाती है कि आने वाले समय के लिए घर में लक्ष्मी जी का वास रहे और घर में सुख शांति बनी रहे।

एस्ट्रोस्वामीजी की ओर से आपको एक समृद्ध, सुरक्षित और आनंदमय खुशहाल दिवाली 2020 की शुभकामनाएं।


Recently Added Articles
IPL इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले टॉप-5 बल्लेबाज
IPL इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले टॉप-5 बल्लेबाज

अभी तक आईपीएल (IPL) के 12 साल के इतिहास में बोलिंग और बैटिंग केटेगरी समेत बहुत से रिकॉर्ड बने हैं। एक ओर सर्वाधिक रनों का रिकॉर्ड इंडियन कप्तान विराट ...

CSK vs MI - 2020 Match Prediction
CSK vs MI - 2020 Match Prediction

IPL 2020 का पहला मैच 29 मार्च को शाम 8 बजे से शुरू हो जायेगा। चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस (CSK VS MI) के बीच यह मैच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम ...

DC VS KKR  -  IPL Match Prediction, 6th Match
DC VS KKR - IPL Match Prediction, 6th Match

दिल्ली कैपिटल्स की टीम को कमजोर समझना कोलकाता टीम के लिए भारी पड़ सकता है। श्रेयस अय्यर की कप्तानी में इस टीम ने पहले भी बेहतरीन प्रदर्शन करके दिखाया ...

IPL इतिहास में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले टॉप-5 बॉलर
IPL इतिहास में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले टॉप-5 बॉलर

IPL(Indian Premier League) 2008 में अपनी शुरुआत के बाद से ने हमेशा भारत और दुनिया भर में क्रिकेट प्रशंसकों की कल्पना पर कब्जा कर लिया है।...


2020 आपका साल है! अब अपनी पूरी रिपोर्ट प्राप्त करें और जानें कि 2020 में आपके लिए कौन से नियम छिपे हैं
पहले से ही एक खाता है लॉग इन करें