क्रिसमस डे 2019

क्रिसमस का त्यौहार भारत के साथ-साथ विश्व के अधिकतर देशों में धूमधाम से मनाया जाने वाला है। क्रिसमस का त्योहार खुशहाली और शांति का प्रतीक है। विश्व में जितने भी ईसाई धर्म से जुड़े हुए लोग हैं वह क्रिसमस डे को बड़ी धूमधाम से मनाते हैं। भारत में भी काफी संख्या में इसाई लोग रहते हैं, इसी कारण से अब जल्द ही बाजारों में क्रिसमस की धूम नजर आने वाली है।

क्रिसमस पर्व का महत्व

इसाई धर्म का अगर कोई सबसे बड़ा त्यौहार है तो वह क्रिसमस है। इससे बड़ा इसाई धर्म का त्यौहार कोई भी नहीं है, इस दौरान चर्च में विशेष प्रार्थनाएं की जाती हैं और 25 दिसंबर के दिन लोग चर्च में जमा होकर अपने भगवान ईसा मसीह को याद करते हैं। 25 दिसंबर को ईसाई धर्म के संस्थापक ईसा मसीह का जन्मदिन मनाया जाता है और इसी दिन क्रिसमस डे विश्व में धूमधाम के साथ सेलिब्रेट किया जाता है। क्रिसमस डे खत्म होने के बाद ही जल्द इसाई नया वर्ष शुरू हो जाता है। ऐसा इतिहास में लिखा गया है कि पहला क्रिसमस रोम में 336 ईसवी में मनाया गया था। यह प्रभु के पुत्र जीसस क्राइस्ट के जन्मदिन को याद करने के लिए मनाया गया था।

क्रिसमस पर्व को और भी खास बनाने के लिए बात करे भारत के जाने माने ज्योतिषाचार्यो से।

25 दिसंबर को ही क्यों मनाया जाता हैं क्रिसमस

क्रिसमस के त्यौहार पर 24 दिसंबर की आधी रात के बाद प्रार्थनाएं शुरू हो जाती हैं। 24 दिसंबर 201 की रात को चर्च में विशेष तौर पर पूजा की जाती है और प्रार्थना की जाती है। साथ ही साथ बच्चों में उपहार बांटने का सिलसिला भी चलता रहता है।

ऐसा नहीं है कि 25 दिसंबर को ईसा मसीह का जन्म हुआ था। क्रिसमस के पीछे की कहानी कुछ और ही है। इनसाइक्लोपीडिया बिर्टेनिका की मानें तो यीशु का जन्म अक्टूबर महीने में हुआ था। इसी तरीके के सबूत इसाई शास्त्रों में मौजूद हैं कि यीशु का जन्म अक्टूबर महीने में हुआ था लेकिन इस तरीके का दावा किया किया गया है कि 25 दिसंबर को इसलिए क्रिसमस डे मनाया जाता है क्योंकि इस दिन रोम के गैर इसाई लोग अजय सूर्य का जन्मदिन मनाते हैं और इसाई चाहते हैं कि यीशु का जन्मदिन भी इसी दिन मनाया जाए।

यही कारण है कि सालों से 25 दिसंबर को क्रिसमस डे यानी ईसा मसीह का जन्मदिन मनाया जा रहा है। इस दिन बुराई पर अच्छाई का दिन बताया गया है और लोग अच्छे कामों से एक नए साल की शुरुआत करते हुए नजर आते हैं। इस साल 2019 में 25 दिसंबर को ही क्रिसमस डे मनाया जाएगा।

Recently Added Articles
 2019 में इस दिन पड़ने वाली है पापांकुशा एकादशी
2019 में इस दिन पड़ने वाली है पापांकुशा एकादशी

पापांकुशा एकादशी एक हिंदू उपवास का दिन है जो हिंदू कैलेंडर में 'आश्विन'के चंद्र महीने के दौरान शुक्ल पक्ष की 'एकादशी' (11 वें दिन) पर पड़ता है।...

वसंत पंचमी 2020
वसंत पंचमी 2020

हिन्दू पंचांग के मुताबिक वसंत पंचमी पर्व हर साल माघ मास के शुक्ल पक्ष के पांचवे दिन यानि पंचमी तिथि को मनाया जाता है।...

दीपावली 2019 तिथि व शुभ मुहूर्त
दीपावली 2019 तिथि व शुभ मुहूर्त

Diwali 2019: दिवाली या दीपावली भारतवासियों का सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार है। दिवाली का त्यौहार हिंदुओं के लिए बड़ा महत्व रखता है ...

दशहरा 2019 –  विजयदशमी 2019 पर्व तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि
दशहरा 2019 – विजयदशमी 2019 पर्व तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि

शुभ मुहूर्त दशहरा पर्व भारत में विजयदशमी के नाम से भी धूमधाम से मनाया जाता हैं।...