आज के ऑफर : 300Rs तक के रिचार्ज पर 10% EXTRA और 500Rs या उससे ऊपर के रिचार्ज पर 15% EXTRA प्राप्त करें।

इस दिन पड़ने वाली है 2019 में निर्जला एकादशी, When 2019 Nirjala Ekadashi is Going to Celebrate?

निर्जला एकादशी 2019 हिंदुओं की एक ऐसी एकादशी है जो भगवान विष्णु को समर्पित है। यह 'ज्येष्ठ'के चंद्र माह के दौरान शुक्ल पक्ष में आती है। इसी कारण से इस एकादशी को 'ज्येष्ठ शुक्ल एकादशी'के नाम से भी जाना जाता है। आमतौर पर निर्जला एकादशी 'गंगा दशहरा'के बाद आती है, लेकिन कभी-कभी एक ही तिथि पर मेल खाती हैं। यदि धार्मिक रूप से देखा जाए, तो निर्जला एकादशी व्यक्ति के सभी पापों को धो देना माना जाता है। इस एकादशी को पांच पांडव भाइयों के कारण 'पांडव निर्जला एकादशी'या 'पांडव भीम एकादशी'के नाम से भी जाना जाता है। 'निर्जला'शब्द का अर्थ है 'बिना पानी के'और इसलिए इस एकादशी का व्रत बिना पानी और भोजन के साथ मनाया जाता है। निर्जला एकादशी सबसे कठिन और महत्वपूर्ण एकादशी है जो कट्टर विष्णु भक्तों द्वारा की जाती है।

कब है 2019 में निर्जला एकादशी (When is Nirjala Ekadashi 2019)

अब हम यह जानेंगे कि इस वर्ष अर्थात 2019 में यह पवित्र निर्जला एकादशी कब पड़ने वाली है। तो जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि 2019 में निर्जला एकादशी पूरे भारतवर्ष में 13 जून को पड़ने वाली है। मतलब इस दिन लोग बिना पानी पिए और कुछ खाये इसका पालन करेंगे।

क्या है शुभ मुहूर्त, Significants of 2019 Nirjala Ekadashi

निर्जला एकादशी व्रत 2019 के शुभ मुहूर्त की बात करें तो इसके पारणा का मुहूर्त 14 जून 2019 को 05:22:47 से 08:10:11 तक रहने वाला है। इसकी अवधि 2 घंटे 47 मिनट है।

निर्जला एकादशी व्रत 2019 के अनुष्ठान

1) जैसा कि नाम से पता चलता है कि निर्जला एकादशी व्रत 2019 को पानी की एक बूंद भी नहीं पीनी चाहिए। इसलिए यह व्रत सबसे सख्त और पवित्र है। गर्मी के मौसम में भी यह व्रत पड़ता है, भोजन से पूरी तरह परहेज करना कोई आसान काम नहीं है। निर्जला एकादशी व्रत 24 घंटे तक रहता है, जो एकादशी तिथि के सूर्योदय से शुरू होकर द्वादशी तिथि के सूर्योदय तक होता है। किसी प्रकार की व्याधियों से पीड़ित या दवाई खाने वालों को निर्जला एकादशी का व्रत नहीं रखना चाहिए। ऐसे भक्तों के लिए, आंशिक उपवास को मंजूरी दी जाती है, क्योंकि कठोर उपवास नियमों की तुलना में भगवान की भक्ति अधिक आवश्यक है।

2) निर्जला एकादशी व्रत की शुरुआत दशमी से हो जाती है। इस प्रार्थना को पूरा करने के बाद, भक्तजन सूर्यास्त से पहले भोजन (चावल के बिना) करते है। पूरी निर्जला एकादशी के दिन व्रत जारी रहता है। व्रत का पालन करने वाला 12वें दिन भगवान विष्णु की पूजा और ब्राह्मणों को भोजन कराने के बाद उपवास तोड़ता है।

3) निर्जला एकादशी के दिन, भगवान विष्णु की पूरे समर्पण के साथ पूजा की जाती है। भक्त अपने स्वामी को तुलसी के पत्ते, फूल, फल और मिठाई चढ़ाते हैं। भगवान विष्णु की मूर्ति को सुंदर रूप से सजाया जाता है और शाम को ढोल और अगरबत्ती के साथ पूजा की जाती है।

4) निर्जला एकादशी व्रत के पालनकर्ता को पूरी रात जागते रहना चाहिए और इसलिए वे इस अवसर के लिए आयोजित भजन और कीर्तन में भाग लेने के लिए भगवान विष्णु के मंदिरों में जाते हैं।

5) इस दिन भगवान विष्णु को समर्पित 'विष्णु सहस्त्रनाम'और अन्य वैदिक मंत्रों को पढ़ना शुभ माना जाता है। निर्जला एकादशी पर गरीबों और जरूरतमंदों को कपड़े, भोजन, पानी और अन्य आवश्यक वस्तुओं का दान करना एक अच्छा कार्य है।

निर्जला एकादशी 2019 के राशि प्रभाव के बारे में जानने के लिए हमारे बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से बात करे । अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।


Recently Added Articles
Valentines Day - कैसा है प्रेम और प्रेमियों के लिए यह वेलेंटाइन डे
Valentines Day - कैसा है प्रेम और प्रेमियों के लिए यह वेलेंटाइन डे

वेलेंटाइन डे एक ऐसा समय होता है जब लोग प्यार, स्नेह और दोस्ती की भावनाओं को अपने चाहने वालों को दिखाते हैं यानि उनके सामने प्यार का इजहार करते हैं।...

IPL 2020 News - आईपीएल 2020 होगा या नहीं?
IPL 2020 News - आईपीएल 2020 होगा या नहीं?

आईपीएल 2020 को लेकर अब सभी की निगाह इस बात पर बनी हुई है कि इस साल आईपीएल होगा या नहीं होगा...

Navratri 2020 - किस दिन करें देवी के किस स्वरूप की पूजा
Navratri 2020 - किस दिन करें देवी के किस स्वरूप की पूजा

नवरात्रि, नवदुर्गा नौ दिनों का त्योहार है, सभी नौ दिन माता आदि शक्ति के विभिन्न रूपों को समर्पित हैं।...

IPL इतिहास में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले टॉप-5 बॉलर
IPL इतिहास में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले टॉप-5 बॉलर

IPL(Indian Premier League) 2008 में अपनी शुरुआत के बाद से ने हमेशा भारत और दुनिया भर में क्रिकेट प्रशंसकों की कल्पना पर कब्जा कर लिया है।...


2020 आपका साल है! अब अपनी पूरी रिपोर्ट प्राप्त करें और जानें कि 2020 में आपके लिए कौन से नियम छिपे हैं
पहले से ही एक खाता है लॉग इन करें