आज के ऑफर : 300Rs तक के रिचार्ज पर 10% EXTRA और 500Rs या उससे ऊपर के रिचार्ज पर 15% EXTRA प्राप्त करें।

इस दिन पड़ने वाली है 2019 में कामिका एकादशी, देख लीजिये शुभ मुहूर्त

इस दिन पड़ने वाली है 2019 में कामिका एकादशी, देख लीजिये शुभ मुहूर्त

कृष्ण अनुयायियों का एक महत्वपूर्ण उपवास अनुष्ठान, वैष्णव कैलेंडर के श्रीधर महीने में कृष्ण पक्ष की 'एकादशी’ को वैष्णव कामिका एकादशी मनाया जाता है। हिंदू कैलेंडर में यह 'श्रावण'महीने में पड़ता है जबकि यह जुलाई से अगस्त के महीनों के बीच मनाया जाता है। कामिका एकादशी का व्रत व्यक्ति के सभी पापों को उसके वर्तमान जीवन के साथ-साथ पिछले जन्मों से भी दूर करने में मदद करता है।

इसके अलावा, यह एकादशी 'पितृ दोष'को दूर करने में भी मदद करती है, यदि कोई हो। इस दिन भक्त भगवान विष्णु का ध्यान और पूजा करते हैं, जिन्हें 'भगवान गदाधर', 'माधव', 'श्रीधर'या 'मधुसूदन'भी कहा जाता है। कामिका एकादशी वैष्णवों के लिए सबसे शुद्ध और महत्वपूर्ण एकादशी है, क्योंकि यह 'चातुर्मास'के दौरान मनाया जाता है, जो कि 4 महीने की शुभ घड़ी है, जो भगवान कृष्ण को समर्पित है। 

2019 में कामिका एकादशी व्रत का शुभ मुहूर्त

 

सूर्योदय

28-जुलाई-2019 05:59 पूर्वाह्न

सूर्य अस्त

28-जुलाई-2019 19:07 अपराह्न

द्वादशी की समाप्ति

29-जुलाई-2019 17:09 अपराह्न

एकादशी तीथि का आरम्भ

27-जुलाई-2019 19:46 बजे

एकादशी तीथि की समाप्त

28-जुलाई-2019 18:49  पूर्वाह्न

हरि वसारा की समाप्ति

29-जुलाई-2019 00:24 पूर्वाह्न

पारण का समय

05:59 अपराह्न  - 08:37 अपराह्न

 

कामिका एकादशी के दौरान व्रत और अनुष्ठान

इसे वैष्णव कामिका एकादशी भी कहा जाता है पर उपवास करना सभी वैष्णवों के लिए महत्वपूर्ण है। वे एकादशी पर अनाज खाने से पूरी तरह से परहेज करते हैं और केवल पानी, फल या डेयरी उत्पादों का सेवन करते हैं। कुछ भक्त वैष्णव कामिका एकादशी पर पूर्ण उपवास रखते हैं। कामिका एकादशी का व्रत एकादशी से उठने के समय से शुरू होता है और 'द्वादशी' (12 वें दिन) तक सूर्योदय के समय तक जारी रहता है। इस व्रत के पालनकर्ता को भगवान कृष्ण के सम्मान में पूरी रात जागरण करना चाहिए।


कामिका एकादशी पर भक्त श्री कृष्ण की भक्ति करते हैं। एकादशी के पालन का मुख्य उद्देश्य आध्यात्मिक साधनाओं में संलग्न होना और 'श्रीमद्भागवतम्'पढ़ना और कृष्ण कीर्तन का जप करना है। वैष्णव कामिका एकादशी पर भगवान के सामने घी का दीपक जलाना शुभ माना जाता है। भक्त शाम को भगवान विष्णु के मंदिरों में भी जाते हैं और दिन के लिए आयोजित विशेष कार्यक्रमों में शामिल होते हैं। विशेष अभिषेक और पूजा अनुष्ठान किए जाते हैं और विभिन्न प्रकार के 'भोग'तैयार किए जाते हैं और भगवान को चढ़ाए जाते हैं।


इस एकादशी के दिन पवित्र तुलसी वृक्ष का विशेष महत्व है। ऐसा माना जाता है कि इस एकादशी पर तुलसी के पेड़ के दर्शन करने से भी सारे पाप दूर हो जाते हैं और देवी तुलसी की पूजा करने से सभी शरीर के रोग ठीक हो जाते हैं। कामिका एकादशी पर, श्री हरि विष्णु को तुलसी के पत्ते चढ़ाने चाहिए क्योंकि यह भगवान को कीमती पत्थर चढ़ाने के बराबर है। तुलसी के पेड़ को जल देने वाले व्यक्ति को यमराज का भय कभी नहीं होगा, जो मृत्यु का देवता है।

कामिका एकादशी 2019 पर कैसे होगा भाग्य उदय सरल ज्योतिषीय उपाय के लिये Astroswamig पर देश भर के जाने माने ज्योतिषाचार्यों से परामर्श करें। अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।


Recently Added Articles
CSK vs MI - 2020 Match Prediction
CSK vs MI - 2020 Match Prediction

IPL 2020 का पहला मैच 29 मार्च को शाम 8 बजे से शुरू हो जायेगा। चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस (CSK VS MI) के बीच यह मैच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम ...

KKR VS RCB - 31 March 2020 IPL Match Prediction
KKR VS RCB - 31 March 2020 IPL Match Prediction

आईपीएल 2020 के अंदर तीसरा मैच कोलकाता नाइट राइडर्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (kkr vs rcb) की टीम में होता हुआ नजर आएगा।...

IPL 2020 News - आईपीएल 2020 होगा या नहीं?
IPL 2020 News - आईपीएल 2020 होगा या नहीं?

आईपीएल 2020 को लेकर अब सभी की निगाह इस बात पर बनी हुई है कि इस साल आईपीएल होगा या नहीं होगा...

DC VS KKR  -  IPL Match Prediction, 6th Match
DC VS KKR - IPL Match Prediction, 6th Match

दिल्ली कैपिटल्स की टीम को कमजोर समझना कोलकाता टीम के लिए भारी पड़ सकता है। श्रेयस अय्यर की कप्तानी में इस टीम ने पहले भी बेहतरीन प्रदर्शन करके दिखाया ...


2020 आपका साल है! अब अपनी पूरी रिपोर्ट प्राप्त करें और जानें कि 2020 में आपके लिए कौन से नियम छिपे हैं
पहले से ही एक खाता है लॉग इन करें