2022 Holi: 2022 मे कब है होली पर्व तिथि और शुभ मुहूर्त

होली हिंदुओं का सबसे बड़े त्योहारों में से एक है जो हर साल फाल्गुन महीने में मनाया जाता है। जबकि यह अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार फरवरी या मार्च महीने में मनाया जाता है। 2022 में होली 19 मार्च को है और देशभर में हर्षोल्लास के साथ मनाया जायेगा। आज हम जानेंगे होली के बारे में कि यह क्यों मनाई जाती है और क्या कहानी रही होगी। चलिये देखते है कि क्या है होली की कहानी।

इस दिन से और इस कारण मनाई जाती है होली

जानकारी के लिए आपको बता दें कि हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार माना जाता है कि राक्षस राजा हिरण्यकश्यप और उनकी बहन होलिका को ब्रह्मा ने अमर होने का आशीर्वाद दिया गया था और ब्रह्मांड में कोई भी उन्हें मार नहीं सकता था इस कारण उन्हें काफी घमंड था। लेकिन उनका पुत्र प्रह्लाद जो भगवान विष्णु का भक्त था। इस कारण हिरण्यकश्यप को यह अच्छा नहीं लगता था क्योंकि यह खुद को ही भगवान दिखाना चाहता था लेकिन प्रह्लाद अपने पिता को भगवान नहीं मानता था। इस कारण हिरण्यश्यप ने अपने ही पुत्र को मारने की कोशिश की, लेकिन इसमें वो असफल रहा।

free-astrology-app

इसके बाद यह माना जाता है कि जब इसमें सफलता नहीं मिली तो उन्होंने अपनी बहन, होलिका के साथ एक एक योजना बनाई और खत्म करने का प्रयास किया। इसके तत्पश्यात उन्होंने अपने ही पुत्र प्रह्लाद को बहन होलिका की गोद में बैठा दिया और फिर आग लगाने को कहा क्योंकि होलिका को भी अमर होने का वरदान था तो उन्हें लगा प्रह्लाद जल जाएगा और होलिका बच जाएगी। लेकिन चमत्कारिक रूप से, प्रह्लाद को विष्णु ने बचा लिया, जबकि होलिका जलकर राख हो गयी थी। इसके बाद से ही यह होली का पावन पर्व देशभर में मनाया जाता है। होली को बुराई के ऊपर 'अच्छाई' का त्यौहार भी कहा जाता है।

आसान या कठिन, जानिए कैसा रहेगा आपके लिए साल 2022? अपनी राशि के लिए अपना पूरा साल का भविष्यफल अभी पढ़ें!

होली की पौराणिक कथा

वहीं कई पौराणिक कथाओं में बताया गया है कि होली भगवान कृष्ण और राधा के बीच मौजूद प्रेम और रोमांस को भी याद दिलाती है। कहा जाता है कि होली के दौरान कृष्ण और राधा के बीच मथुरा और वृंदावन के शहरों में हुई विभिन्न 'रास-लीलाओं' के बारे में बताते हैं। इस कारण वृंदावन की होली बहुत खास मानी जाती है।

kundli

भारतवर्ष में दिवाली के अलावा होली सबसे बड़े त्योहारों में से एक है और इस दिन हर जगह एक दूसरे को रंग लगाकर खुशियां मनाते है। होली को लोग रंग का त्यौहार, रंगोत्सव भी कहते है। यह त्यौहार हर साल हिन्दू कैलेंडर के अनुसार फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। लोग पहले दिन होलिका को जलाते है और दूसरे दिन रंग वाली होली खेलते है।

2022 होली पर्व तिथि व शुभ मुहूर्त

होली 2022 तिथि - 19 मार्च 2022

होलिका दहन मुहूर्त- 18:22 से 20:49

भद्रा पूंछ- 09:37 से 10:38

भद्रा मुख- 10:38 से 12:19

रंगवाली होली- 20 मार्च 2022

पूर्णिमा तिथि आरंभ- 03:03 (19 मार्च 2022)

पूर्णिमा तिथि समाप्त- 23:16 (20 मार्च 2022)

यह भी पढ़े:

क्या है होली के अनुष्ठान

होली पर करें ये टोटके होगी धन की वर्षा और मिटेंगे दुःख


Recently Added Articles
Vijaya Ekadashi 2022 - विजया एकादशी व्रत 2022 तिथि, शुभ मुहूर्त, महत्व
Vijaya Ekadashi 2022 - विजया एकादशी व्रत 2022 तिथि, शुभ मुहूर्त, महत्व

Vijaya Ekadashi 2022: फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी को विजया एकादशी के नाम से जाना जाता है।...

Amalaki Ekadashi 2022 - आमलकी एकादशी व्रत 2022 तिथि, शुभ मुहूर्त, महत्व
Amalaki Ekadashi 2022 - आमलकी एकादशी व्रत 2022 तिथि, शुभ मुहूर्त, महत्व

Amalalki Ekadashi 2022: फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को आमलकी एकादशी के रूप में मनाया जाता है।...

Gudi Padwa 2022 - गुड़ी पड़वा 2022 तिथि, समय और मुहूर्त
Gudi Padwa 2022 - गुड़ी पड़वा 2022 तिथि, समय और मुहूर्त

गुड़ी पड़वा या गुड़ी पड़वा या उगादि उत्सव महाराष्ट्र और गोवा के आस-पास के क्षेत्रों में पहले चैत्र महीने के पहले दिन मनाया जाता है जो चंद्र सौर हिंदू ...

Naga Panchami 2022 - कब हैं 2022 में नाग पंचमी तारीख व मुहूर्त?
Naga Panchami 2022 - कब हैं 2022 में नाग पंचमी तारीख व मुहूर्त?

प्रत्येक वर्ष श्रावण शुक्ल पंचमी को पूरे देश में नाग पंचमी का पर्व मनाया जाता है।...