आचार्य शिव शंकर

आचार्य शिव शंकर

अनुभव : 14 साल 5 महीने
भाषा: [English] [HIndi] [Punjabi]
₹20.00 / Min.
ऑफ़लाइन

आचार्य जी के बारे में

आचार्य शिव शंकर जी लोगों की जिंदगी में कष्ट का सबसे बड़ा कारण वास्तुदोष है। वास्तुदोष के कारण हमारा जीवन बहुत ज्यादा प्रभावित रहता है। खुद को आधुनिक और लक्जरी बनाने के होड़ में हम यह भूल जाते हैं कि वास्तु का सही होना जरुरी है। हम घर को बनाने में यह घर को खरीदने में वास्तु का ध्यान नहीं रखते। घर में किस तरह की वस्तु किस दिशा में होना चाहिए। बाथरुम किस दिशा में होना चाहिए तो बिजली बोर्ड कहाँ होना चाहिए। ऐसे ही बहुत सारी चीजों को स्थापित करने से पहले वास्तु को ध्यान रखना जरुरी है। आचार्य शिव शंकर जीज्योतिष और वैदिक ज्योतिष के साथ-साथ वास्तु के भी विशेषज्ञ हैं। साल 2004 में नई दिल्ली स्थित राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान से शास्त्री करने के बाद वाराणसी स्थित संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय साल 2007 में आचार्य भी किया है। साल 2007 से आचार्य शिव शंकर जीअपने विशेष ज्ञान, ज्योतिष, वैदिक ज्योतिष तथा वास्तु शास्त्र के माध्यम से हजारों लोगों का जीवन उद्धार कर चुके हैं। अपने ज्योतिष विद्या का उपयोग शिव शंकर जीलोगों के जीवन में सुख समृद्धि लाने, जीवन में आने वाले उतार-चढ़ाव को स्थिर करने के साथ साथ व्यापार में भी ऊंचाई पर पहुंचाने के लिए अपनी शिक्षा का इस्तेमाल करते है। आचार्य शिव शंकर जी फेस रीडिंग में भी माहिर है। वह लोगों का फेस देखकर ही उसका अतीत तो बताते ही हैं उसके साथ होने वाली सभी समस्याओं को पढ़ लेते हैं और उसके बाद उसका समाधान करते है। जो लोग आचार्य के पास आते हैं वह उनका समाधान सिर्फ उनके चेहरे को पढ़कर ही बता देते है। इसके अलावा उन्हें राशिफल विश्लेषण का भी ज्ञान है। आचार्य शिव शंकर जी व्यापार में होने वाले घाटे, व्यापार में कामयाबी न मिलना, व्यापार में रुकावट, कार्यक्षेत्र में अन्य लोगों का सहयोग न मिलना जैसी सभी बाधाओं को अपनी विद्या के माध्यम से दूर करते है। इसके अलावा गृह कलेश, प्यार में धोखा, संतान का सुख, पति या पत्नि का किसी और से नाजायज संबंध आदि समस्याओं का भी उपचार करने में आचार्य जी सक्षम है। आचार्य शिव शंकर जी की अनुकंपा से हर परेशान व्यक्ति खुद को धन्यवान हो जाता हैं और अपने दुखों का नाश कर सुखी और समृद्ध जीवन जीता है। आचार्य जी प्रतिदिन दोपहर 12:00 बजे से शाम4:30 बजे तक उपलब्ध रहते हैं।वह हिंदी तथा संस्कृत भाषा में उपचार करने में सक्षम है।